Soul Quotes in Hindi

आत्मा की उत्कृष्टता

आत्मा की उत्कृष्टता संसार की सबसे बड़ी सिद्धि है।
– Anonymous

Comments Off on आत्मा की उत्कृष्टता

आत्मा का परिष्कृत

आत्मा का परिष्कृत रूप ही परमात्मा है।
– Anonymous

Comments Off on आत्मा का परिष्कृत

प्रक्रिया का नाम योग है

आत्मा को निर्मल बनाकर, इंद्रियों का संयम कर उसे परमात्मा के साथ मिला देने की प्रक्रिया का नाम योग है।
– Anonymous

Comments Off on प्रक्रिया का नाम योग है

बाधित करते हैं

अवतार व्यक्ति के रूप में नहीं, आदर्शवादी प्रवाह के रूप में होते हैं और हर जीवन्त आत्मा को युगधर्म निबाहने के लिए बाधित करते हैं।
– Anonymous

Comments Off on बाधित करते हैं

निष्कलंक रहना संभव नहीं

अपनी दिनचर्या में परमार्थ को स्थान दिये बिना आत्मा का निर्मल और निष्कलंक रहना संभव नहीं।
– Anonymous

Comments Off on निष्कलंक रहना संभव नहीं

प्रत्येक कर्म यज्ञ है

अपनी स्वंय की आत्मा के उत्थान से लेकर, व्यक्ति विशेष या सार्वजनिक लोकहितार्थ में निष्ठापूर्वक निष्काम भाव आसक्ति को त्याग कर समत्व भाव से किया गया प्रत्येक कर्म यज्ञ है।
– Anonymous

Comments Off on प्रत्येक कर्म यज्ञ है

आत्मा अकेली आती है

आत्मा अकेली आती है और अकेली जाती है उसका न कोई साथ देता है और न ही मित्र बनता है.
– Lord Mahavir

Comments Off on आत्मा अकेली आती है

Tags:

रब के पास जाना है

अपने जिस्म को ज़रूरत से ज़्यादा न सवारों,क्योंकि इसे तो मिट्टी में मिल जाना है, सवॉरना है तो अपनी रूह को सवॉरों क्योंकि इसे तुम्हारे रब के पास जाना है ..
– Hazrat Ali

Comments Off on रब के पास जाना है

Tags:

हमारे हाथ में दे रखी है

मन ही मनुष्य को स्वर्ग या नरक में बिठा देता है | स्वर्ग या नरक में जाने की कुंजी भगवान ने हमारे हाथ में दे रखी है |
– Swami Shivananda

Comments Off on हमारे हाथ में दे रखी है

Tags:

आत्मा को मजबूत बनाइए

शरीर की बजाए अपनी आत्मा को मजबूत बनाइए।
– Pythagoras

Comments Off on आत्मा को मजबूत बनाइए

Tags:

आत्मा जो चाहती है

आत्मा जो चाहती है वो पा लेती है।
– Khalil Gibran

Comments Off on आत्मा जो चाहती है

Tags:

आत्मा से प्यार करते है

आप का नग्न शरीर केवल उन लोगो से सम्बंधित होना चाहिए जो आपकी नग्न आत्मा से प्यार करते है।
– Charlie Chaplin

Comments Off on आत्मा से प्यार करते है

Tags:

आत्मा सीमित लगती है

अज्ञान के कारण आत्मा सीमित लगती है, लेकिन जब अज्ञान का अंधेरा मिट जाता है, तब आत्मा के वास्तविक स्वरुप का ज्ञान हो जाता है, जैसे बादलों के हट जाने पर सूर्य दिखाई देने लगता है।
– Adi Shankaracharya

Comments Off on आत्मा सीमित लगती है

Tags:

आत्मा इन सबका साक्षी स्वरुप है

हर व्यक्ति को यह समझना चाहिए कि आत्मा एक राज़ा की समान होती है जो शरीर, इन्द्रियों, मन, बुद्धि से बिल्कुल अलग होती है। आत्मा इन सबका साक्षी स्वरुप है।
– Adi Shankaracharya

Comments Off on आत्मा इन सबका साक्षी स्वरुप है

Tags:

शक्ति पैदा कर सकता है

केवल वह व्यक्ति जिसे हारे जाने का मतलब पता है, बराबरी के मुकाबले में अपनी आत्मा की सतहों तक जा सकता है औए जीत के लिए ज़रूरी अतिरिक्त शक्ति पैदा कर सकता है।
– Muhammad Ali

Comments Off on शक्ति पैदा कर सकता है

Tags:

संक्रमित कर देते हैं

झूठे शब्द सिर्फ खुद में बुरे नहीं होते , बल्कि वो आपकी आत्मा को भी बुराई से संक्रमित कर देते हैं.
– Socrates

Comments Off on संक्रमित कर देते हैं

Tags:

आत्मा अमर होती है

हर व्यक्ति की आत्मा अमर होती है , लेकिन जो व्यक्ति नेक होते हैं उनकी आत्मा अमर और दिव्य होती है
– Socrates

Comments Off on आत्मा अमर होती है

Tags:

Atma Prkash Hai

Atma Prkash Hai Aur Prem Vikash…!!
– Anonymous

Comments Off on Atma Prkash Hai

नरक के तीन दरवाजे हैं

काम, क्रोध , और लोभ – ये आत्मा का नाश करने वाले नरक के तीन दरवाजे हैं , अतः इन तीनो को त्याग देना चाहिए।
– Anonymous

Comments Off on नरक के तीन दरवाजे हैं

आत्मा को नष्ट कर दें

उन विचारों को त्याग दो जो आत्मा को नष्ट कर दें।
– Shriram Sharma Acharya

Comments Off on आत्मा को नष्ट कर दें

Tags:

Page 1 of 3123