Chanakya in Hindi

राजा का हित नहीं है

प्रजा के सुख में ही राजा का सुख और प्रजाओं के हित में ही राजा को अपना हित समझना चाहिए। आत्मप्रियता में राजा का हित नहीं है, प्रजाओं की प्रियता में ही राजा का हित है।
– Chanakya

Comments Off on राजा का हित नहीं है

वही पुत्र हैं

वही पुत्र हैं जो पितृ-भक्त है, वही पिता हैं जो ठीक से पालन करता हैं, वही मित्र है जिस पर विश्वास किया जा सके और वही देश है जहाँ जीविका हो।
– Chanakya

Comments Off on वही पुत्र हैं

उदारता

उदारता मनुष्य का श्रेष्ठ गुन है।
– Chanakya

Comments Off on उदारता

कठोर परिश्रम

कठोर परिश्रम से मनुष्य सब कुछ प्राप्त कर सकता है।
– Chanakya

Comments Off on कठोर परिश्रम

पेड़ को छोड़ दिया जाता है

अधिक सीधा-साधा होना भी ठीक नहीं है क्योंकि सीधे पेड़ को तो काट लिया जाता है और टेढ़े पेड़ को छोड़ दिया जाता है.
– Chanakya

Comments Off on पेड़ को छोड़ दिया जाता है

तबदील कर सकता है

किसी भी व्यक्ति की वर्तमान स्थिति को देखकर उसके भविष्य का मज़ाक न उड़ाओ क्योंकि कल में इतनी शक्ति है कि वह एक मामूली कोयले के टुकड़े को हीरे में तबदील कर सकता है.
– Chanakya

Comments Off on तबदील कर सकता है

पश्चाताप करते समय

पश्चाताप करते समय व्यक्ति की जो बुद्धि होती है, वही बुद्धि गलत कार्य करने से पहले भी बनी रहे तो व्यक्ति को कभी भी जीवन में पश्चाताप न करना पड़े.
– Chanakya

Comments Off on पश्चाताप करते समय

किसी को मत बताओ

अपने रहस्य को किसी को मत बताओ, ये आदत आपको ख़त्म कर देंगी.
– Chanakya

Comments Off on किसी को मत बताओ

अत्यधिक जुड़ा हुआ है

वह जो अपने प्रियजनों से अत्यधिक जुड़ा हुआ है, उसे चिंता और भय का सामना करना पड़ता है, क्योंकि सभी दुखों कि जड़ लगाव है. इसलिए खुश रहने कि लिए लगाव छोड़ दीजिये.
– Chanakya

Comments Off on अत्यधिक जुड़ा हुआ है

एक अनपढ़ व्यक्ति

एक अनपढ़ व्यक्ति का जीवन उसी तरह बेकार है जैसे कुत्ते की पूँछ होती है, जो ना उसके पीछे का भाग ढकती है, ना ही उसे कीड़े-मकौडों के डंक से बचाती हे.
– Chanakya

Comments Off on एक अनपढ़ व्यक्ति

Kewal Sahas

Kewal Sahas Ke Bharose Kisi Kaam Ko Jeeta Nahi Ja Sakta.
– Chanakya

Comments Off on Kewal Sahas

Puja Jata Hai

Apne Sthan Par Bane Rahne Se Hi Manushya Puja Jata Hai.
– Chanakya

Comments Off on Puja Jata Hai

Admi

Admi Apne Vyavhar Se Savayam Hi Apne Mann ka Bhed Khol Deta Hai.
– Chanakya

Comments Off on Admi

Alsi vyakti

Alsi vyakti Ka Na Hi To Vartman Hota Hai Na Hi Bhavishya..
– Chanakya

Comments Off on Alsi vyakti

Koi Bhi Admi

Koi Bhi Admi Apne Karmo Se Mahan Hota hai Na Ki Apne Janam Se.
– Chanayka

Comments Off on Koi Bhi Admi

एक अनपढ़

एक अनपढ़ व्यक्ति का जीवन उसी तरह बेकार है जैसे कुत्ते की पूँछ होती है, जो ना उसके पीछे का भाग ढकती है, ना ही उसे कीड़े-मकौडों के डंक से बचाती हे.
– Chanakya

Comments Off on एक अनपढ़

अपने रहस्य

अपने रहस्य को किसी को मत बताओ, ये आदत आपको ख़त्म कर देंगी.
– Chanakya

Comments Off on अपने रहस्य

युवा व्यक्ति

युवा व्यक्ति और खूबसूरत स्त्री, इस संसार की सबसे बड़ी ताकतें हैं.
– Chanakya

Comments Off on युवा व्यक्ति

परिश्रम वह चाबी है

परिश्रम वह चाबी है,जो किस्मत का दरवाजा खोल देती है।
– Chanakya

Comments Off on परिश्रम वह चाबी है

वही पुत्र हैं

वही पुत्र हैं जो पितृ-भक्त है, वही पिता हैं जो ठीक से पालन करता हैं, वही मित्र है जिस पर विश्वास किया जा सके और वही देश है जहाँ जीविका हो।
– Chanakya

Comments Off on वही पुत्र हैं
Page 1 of 712345Last »