Mahatma Gandhi in Hindi

जो लोग सोचना जानते हैं

जो लोग सोचना जानते हैं, उन्हें किसी सिखाने वाले की ज़रुरत नहीं होती |
– Mahatma Gandhi

Comments Off on जो लोग सोचना जानते हैं

समुन्दर गन्दा नहीं हो जाता

आपको इंसानियत में विश्वास नहीं खोना चाहिए. इंसानियत एक समुन्दर है; यदि समुन्दर में कुछ बूंदे गन्दी होती हैं, समुन्दर गन्दा नहीं हो जाता.
– Mahatma Gandhi

Comments Off on समुन्दर गन्दा नहीं हो जाता

संतुष्टि

संतुष्टि efforts (कष्टों) में समायी होती है, attainment ( उपलब्धि) में नहीं, पूर्ण efforts ही पूर्ण जीत है.
– Mahatma Gandhi

Comments Off on संतुष्टि

ज्यादा असरदार होती है

ताकत दो तरह की होती है. एक जो सज़ा के डर से बनायी जाती है और दूसरी जो प्यार के acts से बनायी जाती है. प्यार वाली ताकत सज़ा के डर से बनायी गयी ताकत से हज़ार गुणा ज्यादा असरदार होती है.
– Mahatma Gandhi

Comments Off on ज्यादा असरदार होती है

असली दोलत है

वह Health (सेहत) है जो असली दोलत है, सोने और चांदी के टुकड़े नहीं.
– Mahatma Gandhi

Comments Off on असली दोलत है

वहां पर जीवन है

जहाँ पर प्यार है वहां पर जीवन है.
– Mahatma Gandhi

Comments Off on वहां पर जीवन है

तुम्हे हमेशा जीना है

ऐसे जियो जैसे तुम्हे कल मर जाना था. ऐसे सीखो जैसे तुम्हे हमेशा जीना है.
– Mahatma Gandhi

Comments Off on तुम्हे हमेशा जीना है

बढ़िया तरीका है

अपने आप को find करने का सबसे बढ़िया तरीका है, अपने आप को दूसरों की सेवा में lose कर दो.
– Mahatma Gandhi

Comments Off on बढ़िया तरीका है

कड़ी मेहनत करते हैं

कुछ लोग सफलता के सपने देखते हैं जबकि अन्य व्यक्ति जागते हैं और कड़ी मेहनत करते हैं|
– Mahatma Gandhi

Comments Off on कड़ी मेहनत करते हैं

हम सीख पाते है

कष्ट सहने पर ही हमें अनुभव होता है और दर्द हो, तभी हम सीख पाते है।
– Mahatma Gandhi

Comments Off on हम सीख पाते है

जैसा बना डाला

भगवान ने मनुष्य को अपने ही समान बनाया, पर दुर्भाग्य से इन्सान ने भगवान को अपने जैसा बना डाला |
– Mahatma Gandhi

Comments Off on जैसा बना डाला

निरंतर विकास

निरंतर विकास जीवन का एक नियम है, और जो भी व्यक्ति खुद को सही दिखाने के लिए अपनी रूढ़िवादिता को बरकरार रखने की कोशिश करता है वो खुद को एक गलत स्थिति में पंहुचा देता है।
– Mahatma Gandhi

Comments Off on निरंतर विकास

मेरी खुद की अनुमति

मेरी खुद की अनुमति के बिना कोई भी मुझे ठेस नहीं पहुंचा सकता।
– Mahatma Gandhi

Comments Off on मेरी खुद की अनुमति

प्रकाश देता है

जैसे सूर्य सबको एक-सा प्रकाश देता है, बरसात सबके लिए बरसती है, उसी तरह विद्यावृष्टि सब पर बराबर होनी चाहिए |
– Mahatma Gandhi

Comments Off on प्रकाश देता है

चिंतन में नहीं मिलती

अकेलापन कई बार अपने आप से सार्थक बातें करता है, वैसी सार्थकता भीड़ में या भीड़ के चिंतन में नहीं मिलती ।
– Mahatma Gandhi

Comments Off on चिंतन में नहीं मिलती

केवल प्रसन्नता

केवल प्रसन्नता ही एक मात्र इत्र है, जिसे आप दूसरो पर छिड़के तो उसकी कुछ बूँदें अवश्य ही आप पर भी पड़ती है ।
– Mahatma Gandhi

Comments Off on केवल प्रसन्नता

बराबर होनी चाहिए

जैसे सूर्य सबको एक-सा प्रकाश देता है, बरसात सबके लिए बरसती है, उसी तरह विद्यावृष्टि सब पर बराबर होनी चाहिए .
– Mahatma Gandhi

Comments Off on बराबर होनी चाहिए

एक नियम है

निरंतर विकास जीवन का एक नियम है, और जो भी व्यक्ति खुद को सही दिखाने के लिए अपनी रूढ़िवादिता को बरकरार रखने की कोशिश करता है वो खुद को एक गलत स्थिति में पंहुचा देता है।
– Mahatma Gandhi

Comments Off on एक नियम है

अपने जैसा बना डाला

भगवान ने मनुष्य को अपने ही समान बनाया, पर दुर्भाग्य से इन्सान ने भगवान को अपने जैसा बना डाला |
– Mahatma Gandhi

Comments Off on अपने जैसा बना डाला

वो लोग जो जानते हैं

वो लोग जो जानते हैं कि कैसे सोचना चाहिए, उन्हें शिक्षक की आवश्यकता नहीं है.
– Mahatma Gandhi

Comments Off on वो लोग जो जानते हैं
Page 1 of 612345Last »