Virgil in Hindi

बड़ा फर्क डालती है

नज़रिया एक छोटी चीज़ होती है,लेकिन बड़ा फर्क डालती है।
– Virgil

Comments Off on बड़ा फर्क डालती है

हर कठिनाई में अवसर

एक निराशावादी को हर अवसर में कठिनाई दिखती है और आशावादी को हर कठिनाई में अवसर।
– Virgil

Comments Off on हर कठिनाई में अवसर

साहस मानवीय गुणों में प्रमुख है

साहस मानवीय गुणों में प्रमुख है, क्योकि यह बाकी सभी गुणों की गारंटी देता है।
– Virgil

Comments Off on साहस मानवीय गुणों में प्रमुख है

उसके साथ नहीं

पतंगे हवा के विपरीत सबसे अधिक उंचाई छूती है उसके साथ नहीं।
– Virgil

Comments Off on उसके साथ नहीं

कोई अपराध इतना बड़ा नही है

कोई अपराध इतना बड़ा नही है,जितना की श्रेष्ठ बनने की धृष्टता करना।
– Virgil

Comments Off on कोई अपराध इतना बड़ा नही है

खोने में ही सफलता है

बार बार असफल होने पर भी उत्साह न खोने में ही सफलता है।
– Virgil

Comments Off on खोने में ही सफलता है

आपके शत्रु है

आपके शत्रु है?अच्छी बात है इसका मतलब है आप जीवन मै किसी मूल्य के लिये कभी न कभी दृढ़ता से खड़े हुए है।
– Virgil

Comments Off on आपके शत्रु है

शक्ति या बुद्धिमता से नही

शक्ति या बुद्धिमता से नही, सतत प्रयासों से ही हमारी क्षमताए सामने आती है।
– Virgil

Comments Off on शक्ति या बुद्धिमता से नही

हमे जो मिलता है

हमे जो मिलता है उससे हमारी ज़िंदगी चलती हैऔर जो हम देते है उससे ज़िंदगी बनती है।
– Virgil

Comments Off on हमे जो मिलता है

सुधार का मतलब है

सुधार का मतलब है बदलना और परफेक्ट होने का मतलब है बार बार बदलना।
– Virgil

Comments Off on सुधार का मतलब है

बाहर निकल पाता है

जब तक सत्य घर से बाहर निकल पाता है तब तक तो झूठ आधी दुनिया घूम चूका होता है।
– Virgil

Comments Off on बाहर निकल पाता है

सत्य इतना कीमती होता है

युद्ध में सत्य इतना कीमती होता है की उसे हमेशा झूठ के बॉडीगॉर्ड के साथ ही होना चाहिये।
– Virgil

Comments Off on सत्य इतना कीमती होता है

खड़े होकर बोलना ही नही

साहस सिर्फ खड़े होकर बोलना ही नही, बैठकर धैर्यपूर्वक सुनना भी है।
– Virgil

Comments Off on खड़े होकर बोलना ही नही

व्यक्ति को जो करना है

व्यक्ति को जो करना है, वह करना ही चाहिये चाहे इसके व्यक्तिगत नतीजे कुछ भी क्यों न हो। बाधाए हो, खतरे हों या दबाव पड़ रहा हो और यही मानवीय नैतिकता का आधार है।
– Virgil

Comments Off on व्यक्ति को जो करना है

जैसे की कुछ हुआ ही नहीं

आदमी प्रायः सच से टकराकर लड़खड़ा जाता है पर ज्यादातर लोग खुद को संभालकर आगे बढ़ जाते है। ऐसे जैसे की कुछ हुआ ही नहीं।
– Virgil

Comments Off on जैसे की कुछ हुआ ही नहीं

बहुत आगे देखना गलत है

बहुत आगे देखना गलत है। एक बार में नियति की श्रृंखला की एक कड़ी से ही निपटा जा सकता है।
– Virgil

Comments Off on बहुत आगे देखना गलत है

भविष्य खो दिया है

यदि हम भूत और भविष्य के विवाद में फंसते है तो हम पाएंगे की हमने भविष्य खो दिया है।
– Virgil

Comments Off on भविष्य खो दिया है

तो हम मालिक है

अनकहे शब्दों के तो हम मालिक है लेकिन मुंह से फिसले शब्दों के गुलाम।
– Virgil

Comments Off on तो हम मालिक है

मज़ाक

मज़ाक एक बहुत ही गंभीर चीज होती है।
– Virgil

Comments Off on मज़ाक

एक युद्ध्बन्धी

एक युद्ध्बन्धी वो व्यकी होता है जो तुम्हे मारना चाहता है , पर मार नहीं पता ,और फिर तुमसे कहता है कि उसे मत मारो।
– Virgil

Comments Off on एक युद्ध्बन्धी
Page 1 of 41234